अवधारणा

क्लाउड नेटिव प्रौद्योगिकी (Cloud Native Tech)

यह क्या है

क्लाउड नेटिव प्रौद्योगिकी, जिसे क्लाउड नेटिव स्टैक के रूप में भी जाना जाता है, वे तकनीकें हैं जिनका उपयोग क्लाउड नेटिव एप्लिकेशन बनाने के लिए किया जाता है। सार्वजनिक, निजी और हाइब्रिड क्लाउड जैसे आधुनिक, गतिशील वातावरण में स्केलेबल एप्लिकेशन बनाने और चलाने के लिए संगठनों को सक्षम करते हुए, वे ‘क्लाउड के वादे’ को कायम रखते हैं और क्लाउड कंप्यूटिंग लाभों का पूरा लाभ उठाने की अनुमति देता है। वे क्लाउड कंप्यूटिंग और कंटेनर, सर्विस मेश, माइक्रोसर्विसेज की क्षमताओं का फायदा उठाने के लिए जमीन से तैयार किए गए हैं, अपरिवर्तनीय अवसंरचना इस दृष्टिकोण को स्पष्ट करे हैं।

समस्या

क्लाउड नेटिव स्टैक में कई अलग-अलग तकनीकी श्रेणियां हैं, जो विभिन्न चुनौतियों का समाधान करती हैं। यदि आप CNCF क्लाउड नेटिव लैंडस्केप पर एक नजर डालते हैं, तो आप देखेंगे कि यह कितने अलग-अलग क्षेत्रों को छूता है। लेकिन उच्च स्तर पर, वे चुनौतियों के एक मुख्य समूह को संबोधित करते हैं: पारंपरिक IT ऑपरेटिंग मॉडल की कमियां। चुनौतियों में स्केलेबल, दोष-सहिष्णु, स्व-उपचार एप्लीकेशन के साथ-साथ अक्षम संसाधन उपयोग जैसी कठिनाइयाँ शामिल हैं।

समाधान

जबकि प्रत्येक तकनीक एक बहुत ही विशिष्ट समस्या को संबोधित करती है, एक समूह के रूप में, क्लाउड नेटिव प्रौद्योगिकियां शिथिल युग्मित सिस्टम(coupled systems) को सक्षम करती हैं जो लचीला(resilient), प्रबंधनीय(manageable) और अवलोकन(observable) योग्य बनाती हैं। मजबूत स्वचालन के साथ, वे इंजीनियरों को न्यूनतम परिश्रम के साथ बार-बार और अनुमानित रूप से उच्च-प्रभाव वाले परिवर्तन करने की अनुमति देते हैं। क्लाउड नेटिव सिस्टम के वांछनीय लक्षण क्लाउड नेटिव स्टैक के साथ प्राप्त करना सरल है।


अंतिम बार संशोधित August 3, 2022: Merge 5 new Hindi localizations into main (#1158) (d0210b0)